आकस्मिकवाद

आकस्मिकवाद दार्शनिक मत ; घटनाओं के अकारण घटित होने का सिद्धांत। यूनान के महान दार्शनिक प्लेटो ने इसका प्रतिपादन किया। सीमाविशेष तक अरस्तू भी इसके समर्थक थे। संसार की गतिविधि के संचालन में अनेक आकस्मिक संयोगों का विशेष महत्व है। अत: इत मत को आकस्मिकवाद कहा गया। पाश्चात्य देशों में वैज्ञानिक विवेचन का प्राधान्य होने पर इस विचारधारा की मान्यता नहीं रही। उत्तरकालीन यूनानी दार्शनिकों ने भी "विधि" और "कारण" को प्रधानता देकर आकस्मिकवाद के सिद्धांत को अस्वीकार किया।
बौद्ध धर्म के व्यापक प्रसार के पूर्व भारत में आकस्मिकवाद की दार्शनिक मान्यता "यदृच्छावाद" के रूप में थी। ब्रह्मांड की संरचना और संचालन "आकस्मिकता" तथा "अकारणत्व" को कारण माना गया। सांख्य दर्शन में सूक्ष्म, अज्ञात और आकस्मिक तत्व को कार्य का प्रेरक बताया गया। भारतीय दर्शन में "आकस्मिकता" की "स्वेच्छा" तथा "अनवरतता" के रूप में भी मान्यता रही है।
"आकस्मिकवाद" स्पष्टत: मानता है कि सृष्टि की सभी घटनाएँ तथा समस्त कार्य अकारण और संयोगवश संपन्न हो रहे हैं। इस मत के आलोचकों का कथन है कि "कारण" का सूक्ष्म स्वरूप ज्ञात न होने पर उसे भ्रमवश "आकस्मिक" और "संयोगबद्ध" कहना युक्तिसंगत नहीं है। अपने ज्ञान, कल्पना और साधनों के सीमित और असमर्थ होने के कारण ही हमें कार्य, घटना अथवा रचना के "कारण" का बोध नहीं हो पाता और इस स्थिति को "आकस्मिक" कह दिया जाता है। संप्रति "आकस्मिकवाद" वैज्ञानिक चिंतनविधि के कारण मान्य नहीं है।
नीतिशास्त्रीय चिंतन में "आकस्मिकवाद" इस तथ्य का प्रतिपादन करता है कि मानसिक परिवर्तन आकस्मिक और अकारण भी होते हैं, तथा पूर्वनिश्चित कारणों एवं प्रेरक तत्वों के अभाव में भी स्वेच्छया संचालित मानसिक व्यापार स्वत: गतिशील रहते हैं; चित्रकला में "आकस्मिकवाद" प्रकाश के आकस्मिक प्रभावों के विवेचन से संबंधित हैं।

श्री हरिहरो विजयतेतराम सुप्रभातम आज का.

जो लोग अबतक आपके विपरीत चल रहे थे वो भी आपका सहयोग एवं प्रशंशा करेंगे फिर भी आकस्मिक वाद विवाद के प्रसंग बनेंगे इससे बच कर रहें। घर मे थोड़ी उग्रता रहने पर भी प्रेम बना रहेगा। मिथुन का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा आज के दिन. Whatsapp स्टेटस Images Raj Pandit ShareChat Funny. अ आकस्मिक वाद ब एकरूपता वाद स आगमनात्मकता द निगमनात्मकता अ व्याख्या: भूगोल में भू आकृतियों तथा जीवो के विकास की व्याख्या के लिए आकस्मिकतावाद या प्रलयवाद महत्वपूर्ण विचारधारा रही है भौतिक भूगोल में यह.

Akaran Meaning in English अकारण का अंग्रेजी में मतलब.

उन विचारों को निम्नलिखित वादों के रूप में उपस्थित किया जा सकता है शून्यवाद, अभाववाद, आकस्मिकवाद, सर्वानित्यत्ववाद, भूतनित्यत्ववाद, पृथक्त्ववाद, इतरेतराभाववाद, स्वभाववाद, जगदनादिवाद, जीवेश्वरवाद आदि। क्या इनके अनुसार. दु:ख वैशेषिक दर्शन भारतकोश, ज्ञान का हिन्दी. वह सफलता प्राप्त करने के लिये कुछ भी कर सकता है और वो अकारण झूठ भी बहुत बोलता है संदर्भ Reference आकस्मिकवाद स्पष्टत: मानता है कि सृष्टि की सभी घटनाएँ तथा समस्त कार्य अकारण और संयोगवश संपन्न हो रहे हैं संदर्भ Reference विकृत चेतना. आकस्मिकवाद दार्शनिक मत, घटनाओं के अकारण घटित. जो लोग अबतक आपके विपरीत चल रहे थे वो भी आपका सहयोग एवं प्रशंशा करेंगे फिर भी आकस्मिक वाद विवाद के प्रसंग बनेंगे इससे बच कर रहें। घर मे थोड़ी उग्रता रहने पर भी प्रेम बना रहेगा। तुला⚖️ रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते आज आपकी दिनचार्य व्यवस्थित.

आज क्या खुसखबरी लेकर आया आपका राशिफल eTIMES.

का विशेष योगदान रहा है, जिसमें हेरोडोट्स 485बी.सी. 425बी.​सी., अरस्तू 384वी.सी. 332बी.सी. एवं क्रिश्चियन युग 9 बी.सी. ​65ए.डी. का योगदान रहा है लेकिन स्थलस्वरुप. के अध्ययन का विकास 17वीं शताब्दी के मध्य में आकस्मिकवाद या ​प्रलयवादिता के. Sristi ki utpatti kyu aur kaise Archives Aryamantavya. आकस्मिकवाद दार्शनिक मत, घटनाओं के अकारण घटित होने का सिद्धांत। यूनान के महान दार्शनिक प्लेटो ने इसका प्रतिपादन किया। सीमाविशेष तक अरस्तू भी इसके समर्थक थे। संसार की गतिविधि के संचालन में अनेक आकस्मिक संयोगों का.

जय महर्षि पाराशर श्री हरिहरो Sushil Parashar, Parashar.

नवमानववाद अवतारवाद कनफ़्यूशीवाद अजातिवाद सर्वात्मवाद कुलीनवाद शून्यवाद अणुवाद अरबी दर्शन असत्कार्यवाद अस्तित्ववाद आकस्मिकवाद आत्मवाद आदर्शवाद आनंदवाद आन्वीक्षिकी आभासवाद आरंभवाद उपयोगितावाद एकजीववाद. संयोगवश Meaning in Hindi संयोगवश का हिंदी में मतलब. जो लोग अबतक आपके विपरीत चल रहे थे वो भी आपका सहयोग एवं प्रशंशा करेंगे फिर भी आकस्मिक वाद विवाद के प्रसंग बनेंगे इससे बच कर रहें। घर मे थोड़ी उग्रता रहने पर भी प्रेम बना रहेगा। वृष ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो आज के दिन कुछ कार्यो.