गंगासागर मेला

ब दरग ह न र म ण क य जन बन रह ह ग ग स गर त र थ एव म ल मह क भ क ब द मन ष य क द सर सबस बड म ल ह यह म ल वर ष म एक ब र लगत ह च त र: Ganges
क प रम ख म ल और उत सव क म भ म ल इल ह ब द प रय गर ज म घ म ल इल ह ब द न चन द म ल ख चड म ल ग रखप र बट श वर म ल आगर कत क म ल ब ठ र उत तर यण
इस पर व पर स न न क पश च त त ल द न करन क प रथ ह यह ग ग स गर म प रत वर ष व श ल म ल लगत ह मकर स क र न त क द न ह ग ग ज भग रथ क प छ - प छ
प ष कर र जस थ न म व ख य त त र थस थ न ह जह प रत वर ष प रस द ध प ष कर म ल लगत ह यह र जस थ न क अजम र ज ल म ह यह ब रह म क एक मन द र ह
प रम ख ह : - कवद म ल स मवत अम वस य म ल ग ग दशहर ग घल म ल ज सम लगभग - ल ख ल ग भ ग ल त ह इस क अत र क त यह क भ म ल भ आय ज त ह त
इल ह ब द म लगन व ल क भ क म ल सबस बड ध र म क म ल ह इस म ल म हर ब र व श ल स ख य म भक त आत ह इस म ल म आए ल ख श रद ध ल ग द वर
श र र ध क ष ण स स क त मह व द य लय, श र मन ष स स क त व द य लय, श र ग ग स गर ट रस ट स स क त मह व द य लय और एनआर स स क त व द य लय म अन य प रद श
भ रत क सबस बड नद ग ग कर ब 2525 क ल म टर क द र तय कर ग म ख स ग ग स गर तक ज त ह इस प र र स त म ग ग उत तर स दक ष ण क ओर बहत ह क वल
प रय गर ज म लगन व ल क भ म ल शहर क आकर षण क सबस बड क न द र ह अनग नत श रद ध ल इस म ल म आत ह यह म ल एक वर ष म घ म ल त न वर ष छ वर ष अर द धक म भ
आत रहत ह व श षकर प र ण म क द न भदर व प र ण म क द न यह बड म ल लगत ह द श भर स भक तगण यह म क प ज अर चन ह त आत ह व श षकर ज ल ई

भ वन श वर स मन थ म ल म स स क त क क र यक रम क ध म ह न द स त न, ह न द द न क. अभ गमन त थ 4 नवम बर 2017. म स क स मन थ म ल अमर उज ल ह न द
आदर त ह स ट शन स क ल म टर द र ग ग स गर त ल ब क क न र बन भ ख सल म मज र क प स रमज न मह न क - व क ब च म ल लगत ह दरभ ग क आसप स क श श वरस थ न
क ल द स क नगर क न म स भ ज न ज त ह यह हर वर ष पर स हस थ मह क भ म ल लगत ह भगव न श व क 12 ज य त र ल ग म एक मह क ल इस नगर म स थ त ह
अव त प रव शद व र: ह न द धर म भ रत य मह क व य ह न द धर म ग र थ भ रत क म ल क स च ह न द ग र व सन त ह न द प थ व धर मय त र मह स घ य त र सल ह
स दर म द र म भव य स तर पर द व ल म ल क आय जन क य ज त ह ज सम प रत य क वर ष ल ख क स ख य ल ग इस म ल म सम म ल त ह त ह र जम ल क अन स र
म च र ध म और सप तप र य क न म श र षस थ म न ज त ह प रय ग, गय और ग ग स गर तक क न म इनम नह आत अत इस नक र भ ज सकत ह व र णस क ष त र
अत यन त पव त र और भव य मन द र स थ त ह हर स ल स वन क मह न म स र वण म ल लगत ह ज सम ल ख श रद ध ल ब ल - बम ब ल - बम क जयक र लग त ह ए ब ब
श 6 यम न - ज म - द वस यमद व त य तथ क र त क श 10 क स वध क ब द क म ल लगत ह व श र न त स प छ श र र म न ज सम प रद य क न र यणज क म द र, इसक
न सन त न दम पत य क स धन स गम क अपभ र श ह कर म ल ह गय अब इस क र त क म स क प र ण म क म ल य न क द र क त क स थ न य ब ल म कहन लग ह
म लत ह अत य त र व ण स गम कहल त ह जह प रत य क ब रह वर ष म क भ म ल लगत ह शहर क वर तम न न म म गल सम र ट अकबर द व र म रख गय थ

दर शनस ह म द र दर शन य ह क छ ज न म द र भ ह यह पर वर ष म त न म ल लगत ह - म र च - अप र ल, ज ल ई - अगस त तथ अक ट बर - न वबर क मह न म इन
प रस थ न क य थ बद र न थ मन द र म आय ज त सबस प रम ख पर व म त म र त क म ल ह ज म प थ व पर ग ग नद क आगमन क ख श म मन य ज त ह इस त य ह र
मह षमर द न यश र श वर फ ल लर न द न इ द र क ष अन य त र थ ग ग स गर छ ट च र ध म उत तर चल क च र ध म ह न द धर म ह न द
मह षमर द न यश र श वर फ ल लर न द न इ द र क ष अन य त र थ ग ग स गर छ ट च र ध म उत तर चल क च र ध म ह न द धर म ह न द
फ र ह म लय न स ह, भगव न व ष ण न कमल, इ द र न घ ट तथ सम द र न कभ न म ल ह न व ल म ल प रद न क तभ सभ द वत ओ न द व क आर धन क त क द व
मह षमर द न यश र श वर फ ल लर न द न इ द र क ष अन य त र थ ग ग स गर छ ट च र ध म उत तर चल क च र ध म ह न द धर म ह न द
भगव न श कर न स ह, भगव न व ष ण न कमल, इ द र न घ ट सम द र न कभ न म ल ह न व ल म ल प रद न क इसक ब द सभ द वत ओ न द व क आर धन क त क
ह क र त क प र ण म क द न ग ग नद क क न र लगन व ल क र त क अथव कत क म ल प र भ रतवर ष क ल ग क ध य न ख चत ह 7974121779 व वरण क ल ए द ख य
क र मप र ण क उद ध त क य ह - ग ग क जल म व र णस क स थल य जल म ग ग स गर म य उसक भ म जल य अन तर क ष म मरन स व यक त म क ष स स र स अन त म

  • ब दरग ह न र म ण क य जन बन रह ह ग ग स गर त र थ एव म ल मह क भ क ब द मन ष य क द सर सबस बड म ल ह यह म ल वर ष म एक ब र लगत ह च त र: Ganges
  • क प रम ख म ल और उत सव क म भ म ल इल ह ब द प रय गर ज म घ म ल इल ह ब द न चन द म ल ख चड म ल ग रखप र बट श वर म ल आगर कत क म ल ब ठ र उत तर यण
  • इस पर व पर स न न क पश च त त ल द न करन क प रथ ह यह ग ग स गर म प रत वर ष व श ल म ल लगत ह मकर स क र न त क द न ह ग ग ज भग रथ क प छ - प छ
  • प ष कर र जस थ न म व ख य त त र थस थ न ह जह प रत वर ष प रस द ध प ष कर म ल लगत ह यह र जस थ न क अजम र ज ल म ह यह ब रह म क एक मन द र ह
  • प रम ख ह : - कवद म ल स मवत अम वस य म ल ग ग दशहर ग घल म ल ज सम लगभग - ल ख ल ग भ ग ल त ह इस क अत र क त यह क भ म ल भ आय ज त ह त
  • इल ह ब द म लगन व ल क भ क म ल सबस बड ध र म क म ल ह इस म ल म हर ब र व श ल स ख य म भक त आत ह इस म ल म आए ल ख श रद ध ल ग द वर
  • श र र ध क ष ण स स क त मह व द य लय, श र मन ष स स क त व द य लय, श र ग ग स गर ट रस ट स स क त मह व द य लय और एनआर स स क त व द य लय म अन य प रद श
  • भ रत क सबस बड नद ग ग कर ब 2525 क ल म टर क द र तय कर ग म ख स ग ग स गर तक ज त ह इस प र र स त म ग ग उत तर स दक ष ण क ओर बहत ह क वल
  • प रय गर ज म लगन व ल क भ म ल शहर क आकर षण क सबस बड क न द र ह अनग नत श रद ध ल इस म ल म आत ह यह म ल एक वर ष म घ म ल त न वर ष छ वर ष अर द धक म भ
  • आत रहत ह व श षकर प र ण म क द न भदर व प र ण म क द न यह बड म ल लगत ह द श भर स भक तगण यह म क प ज अर चन ह त आत ह व श षकर ज ल ई
  • भ वन श वर स मन थ म ल म स स क त क क र यक रम क ध म ह न द स त न, ह न द द न क. अभ गमन त थ 4 नवम बर 2017. म स क स मन थ म ल अमर उज ल ह न द
  • आदर त ह स ट शन स क ल म टर द र ग ग स गर त ल ब क क न र बन भ ख सल म मज र क प स रमज न मह न क - व क ब च म ल लगत ह दरभ ग क आसप स क श श वरस थ न
  • क ल द स क नगर क न म स भ ज न ज त ह यह हर वर ष पर स हस थ मह क भ म ल लगत ह भगव न श व क 12 ज य त र ल ग म एक मह क ल इस नगर म स थ त ह
  • अव त प रव शद व र: ह न द धर म भ रत य मह क व य ह न द धर म ग र थ भ रत क म ल क स च ह न द ग र व सन त ह न द प थ व धर मय त र मह स घ य त र सल ह
  • स दर म द र म भव य स तर पर द व ल म ल क आय जन क य ज त ह ज सम प रत य क वर ष ल ख क स ख य ल ग इस म ल म सम म ल त ह त ह र जम ल क अन स र
  • म च र ध म और सप तप र य क न म श र षस थ म न ज त ह प रय ग, गय और ग ग स गर तक क न म इनम नह आत अत इस नक र भ ज सकत ह व र णस क ष त र
  • अत यन त पव त र और भव य मन द र स थ त ह हर स ल स वन क मह न म स र वण म ल लगत ह ज सम ल ख श रद ध ल ब ल - बम ब ल - बम क जयक र लग त ह ए ब ब
  • श 6 यम न - ज म - द वस यमद व त य तथ क र त क श 10 क स वध क ब द क म ल लगत ह व श र न त स प छ श र र म न ज सम प रद य क न र यणज क म द र, इसक
  • न सन त न दम पत य क स धन स गम क अपभ र श ह कर म ल ह गय अब इस क र त क म स क प र ण म क म ल य न क द र क त क स थ न य ब ल म कहन लग ह
  • म लत ह अत य त र व ण स गम कहल त ह जह प रत य क ब रह वर ष म क भ म ल लगत ह शहर क वर तम न न म म गल सम र ट अकबर द व र म रख गय थ
  • दर शनस ह म द र दर शन य ह क छ ज न म द र भ ह यह पर वर ष म त न म ल लगत ह - म र च - अप र ल, ज ल ई - अगस त तथ अक ट बर - न वबर क मह न म इन
  • प रस थ न क य थ बद र न थ मन द र म आय ज त सबस प रम ख पर व म त म र त क म ल ह ज म प थ व पर ग ग नद क आगमन क ख श म मन य ज त ह इस त य ह र
  • मह षमर द न यश र श वर फ ल लर न द न इ द र क ष अन य त र थ ग ग स गर छ ट च र ध म उत तर चल क च र ध म ह न द धर म ह न द
  • मह षमर द न यश र श वर फ ल लर न द न इ द र क ष अन य त र थ ग ग स गर छ ट च र ध म उत तर चल क च र ध म ह न द धर म ह न द
  • फ र ह म लय न स ह, भगव न व ष ण न कमल, इ द र न घ ट तथ सम द र न कभ न म ल ह न व ल म ल प रद न क तभ सभ द वत ओ न द व क आर धन क त क द व
  • मह षमर द न यश र श वर फ ल लर न द न इ द र क ष अन य त र थ ग ग स गर छ ट च र ध म उत तर चल क च र ध म ह न द धर म ह न द
  • भगव न श कर न स ह, भगव न व ष ण न कमल, इ द र न घ ट सम द र न कभ न म ल ह न व ल म ल प रद न क इसक ब द सभ द वत ओ न द व क आर धन क त क
  • ह क र त क प र ण म क द न ग ग नद क क न र लगन व ल क र त क अथव कत क म ल प र भ रतवर ष क ल ग क ध य न ख चत ह 7974121779 व वरण क ल ए द ख य
  • क र मप र ण क उद ध त क य ह - ग ग क जल म व र णस क स थल य जल म ग ग स गर म य उसक भ म जल य अन तर क ष म मरन स व यक त म क ष स स र स अन त म

गंगासागर मेला: गंगासागर मेला २०१९, गंगासागर मंदिर, कपिल मुनि टेम्पल, गंगासागर, कोलकाता से गंगासागर कैसे जाएं, गंगासागर तस्वीरें, गंगासागर फिल्म, गंगासागर नाटक, हावड़ा से गंगासागर की दूरी कितनी है

गंगासागर तस्वीरें.

पर्यटन तीर्थ स्थल: और तीर्थ बार बार, गंगासागर एक बार. हर साल गंगासागर मेला इस सागर द्वीप के छोपर मनाया जाता है जहाँ से गंगा नदी बंगाल की खाड़ी में प्रवेश करती है। इसी प्रयाग को गंगासागर का नाम दिया गया है। यहाँ पर कपिल मुनि का एक मंदिर है जो ख़ास महत्व रखता है। कुम्भ मेले के बाद गंगासागर. गंगासागर मंदिर. गंगा का सागर में मिलन स्थल है गंगासागर Swaraj Digital. राज्य के पंचायत मंत्री सुब्रत मुखर्जी ने बताया कि अब तक लाख तीर्थयात्री गंगासागर में पुण्य डुबकी लगाकर लौट चुके हैं और इस समय पांच लाख श्रद्धालु गंगासागर में मौजूद हैं। चूंकि इस साल और कोई बड़ा धार्मिक मेला नहीं है इसलिए.

कपिल मुनि टेम्पल, गंगासागर.

मोक्ष का महासागर गंगासागर प्रवक्‍ता. PATNA सागर मेले के शुभारंभ से पहले प्रशासन की ओर से मेले में दूरसंचार सेवा को बहाल रखने के लिए हाईटेक व्यवस्था की बात की गयी थी, लेकिन मेले की शुरुआत के बाद प्रशासन का यह दावा हवा हवाई साबित हो रहा है। निजी व सरकारी तमाम. गंगासागर फिल्म. गंगासागर मेला 2020 गंगासागर मेले पर पूरा खर्च. पश्चिम बंगाल की जिस पावन भूमि में गंगा व सागर का संगम होता है उसे गंगासागर कहते हैं। जिसे सागरद्वीप भी कहा जाता है। गंगासागर मेला देश में आयोजित होने वाले तमाम बड़े मेलों में से एक है। सागरद्वीप यानी गंगासागर में स्थित कपिलमुनि.

गंगासागर नाटक.

गंगासागर तीर्थ यात्रा की जानकारी टूरिस्‍ट प्‍लेस. कोलकाता गंगासागर मेले के दौरान श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए पूर्व रेलवे विशेष स्वच्छता व्यवस्था और सुरक्षा प्रदान करेगा साथ ही अतिरिक्त रेलगाड़ियों का संचालन भी करेगा। गंगासागर मेला पश्चिम बंगाल में 12 जनवरी से शुरू. हावड़ा से गंगासागर की दूरी कितनी है. गंगासागर में आस्था की डुबकी BBC News हिंदी. गंगासागर मेला देश में आयोजित होने वाले विशाल मेलों में से एक है। मेला हर साल मकर संक्रांति पर यहां लगता है। हर साल इस मेले में 10 लाख श्रद्धालु पुण्यस्नान के लिए आते हैं।.

विश्व प्रसिद्ध गंगासागर मेले के लिए कड़ी सुरक्षा.

गौरतलब है कि गंगासागर मेला के दौरान देश व विदेश से लाखों की संख्या में पुण्यार्थी यहां पहुंचते हैं, पहले वहां किसी पुण्यार्थी के बीमार हाेने पर उसे हेलीकॉप्टर से कोलकाता लाया जाता था, लेकिन एयर एंबुलेंस के माध्यम से. गंगासागर मेले को लेकर तैयारियां शुरू, सुरक्षा के. गंगासागर तीर्थयात्रा, जिसे गंगासागर मेला के रूप में जाना जाता है, मकर संक्रांति मध्य जनवरी के दौरान सैकड़ों तीर्थयात्रियों और पर्यटकों के लिए सबसे बड़ा आकर्षण होता है। सुंदरबन के एक द्वीप सागरद्वीप में पश्चिम बंगाल में आयोजित यह.

गंगासागर मेला GK Khoj.

गंगासागर मेला हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योहार है। यह पश्चिम बंगाल में लगता है. सारे तीर्थ बार बार गंगासागर एक बार story of gangasagar. क्या आप जानते हैं कि गंगासागर मेला भारत के सबसे बड़े धार्मिक मेलों में से एक है? तीर्थयात्रियों की संख्या को देखा जाए तो सिर्फ कुम्भ मेला इससे आगे है। यह सुंदरबन ​पश्चिम बंगाल के सागरदीप नामक एक द्वीप पर मकर संक्रांति के दौरान.

मकर संक्रांति स्नान: गंगासागर में सुरक्षा के.

गंगासागर मेला पश्चिम बंगाल के लोकप्रिय मेलों में से एक है। गंगा नदी, जिसका हिमालय पर्वत से ढकी बर्फ में गंगोत्री नदी में इसका स्रोत है, यह पहाड़ों से नीचे उतरती है और हरिद्वार तक पहुँचती है, और पंच तीर्थ और वाराणसी जैसे. केंद्र सरकार ने गंगासागर मेले के लिए धनराशि नहीं. आउट्राम घाट में कुछ सामाजिक संस्थाओं की ओर से १० तो कुछ की ओर से 11 जनवरी से शिविर शुरू किया गया था। अखिल भारतीय क्षत्रिय समाज की ओर से सागरद्वीप में लगाए सेवा शिविर में गंगासागर तीर्थयात्रियों की सेवा की गई तो. गंगासागर मेला 14 जनवरी से, जानिए इससे जुड़ी खास. गंगासागर, समाज्ञा हर साल की भांति इस साल भी मकर संक्रांति के पावन अवसर पर गंगासागर में पुण्य की डुबकी लगाने के इस दौरान, सुब्रत ने कहा कि वर्तमान में, तीन मंत्री व स्थानीय विधायक मेला प्रांगण के इंतेजाम पर निगरानी बनाए​. गंगासागर मेला 2021 डेट HolidaySeva Tour & Travels. इसके पहले कभी इतने अधिक लोगों ने गंगासागर में डुबकी नहीं लगाई.बुधवार देर रात ममता बनर्जी ने ट्वीट किया है.इसमें उन्होंने लिखा है कि कुंभ की तरह हमारे पास गंगासागर मेला है​.मुझे यह खुशखबरी मिली है कि इस बार तीर्थ यात्रियों.

अब नेवी की सुरक्षा में होगा गंगासागर मेला – BEN.

मेला के कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कपिल मुनि आश्रम जाकर के साधु संतों का आशीर्वाद ले चुकी है ।इस क्रम में राज्य के पंचायत मंत्री सुब्रत मुखर्जी ने गंगासागर मेला ऑफिस में एक प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान कहा कि इस. पुण्य की डुबकी लगाने गंगासागर पहुंचने लगे. इसके पहले कभी इतने अधिक लोगों ने गंगासागर में डुबकी नहीं लगाई। बुधवार देर रात ममता बनर्जी ने ट्वीट किया है। इसमें उन्होंने लिखा है कि कुंभ की तरह हमारे पास गंगासागर मेला है​। मुझे यह खुशखबरी मिली है कि इस बार तीर्थ यात्रियों. Latest gangasagar mela News in Hindi gangasagar mela Live. गंगासागर मेला पश्चिम बंगाल में आयोजित होने वाले सबसे बड़े मेलों में से एक है। इस मेले का आयोजन कोलकाता के निकट हुगली नदी के तट पर ठीक उस स्थान पर किया जाता है, जहाँ पर गंगा बंगाल की खाड़ी में मिलती है। इसीलिए इस मेले का नाम गंगासागर.

वेस्ट बंगाल गंगासागर stampede Ut.

पश्चिम बंगाल की जिस पावन भूमि में गंगा व सागर का संगम होता है उसे गंगासागर कहते हैं। जिसे सागरद्वीप भी कहा जाता है। गंगासागर मेला देश में आयोजित होने वाले तमाम बड़े मेलों में से एक है। इसकी ख्याती यहां वर्ष में एक बार लगने वाले मेले के. Kolkata: गंगासागर मेला शुरू, तीर्थ यात्रियों की हर. गंगासागर मेला की चर्चा हिन्दू धर्मग्रन्थों में मोक्षधाम के तौपर की जाती है. यह मेला पश्चिम बंगाल में गंगा के सागर से मिलन के.

ममता ने किया दावा गंगासागर मेले में 50 लाख.

कुम्भ मेले को छोड़कर देश में आयोजित होने वाले तमाम मेलों में गंगासागर का मेला सबसे बड़ा मेला होता है। हिन्दू धर्मग्रन्थों में इसकी चर्चा मोक्षधाम के तौपर की गई है, जहां मकर संक्रान्ति के मौके पर दुनिया भर से लाखों. गंगासागर मेले में जुटे 2 लाख से ज्यादा Khaskhabar. भारत की नदियों में सबसे पवित्र गंगा, गंगोत्री से निकल कर पश्चिम बंगाल में जहां उसका सागर से मिलन होता है, उस स्थान को गंगासागर कहते हैं। यह स्थान देश में आयोजित होने वाले तमाम बड़े मेलों में से एक, गंगासागर मेला, के लिए. मकर संक्रांति पर स्नान के लिए लाखों fullstory PTI. भारत में मेलों को सिर्फ खान पान या खरीदारी की दृष्टि से नहीं बल्कि अनमोल सांस्कृतिक धरोहर के रूप में देखा जाता है। इन मेलों में भारत के धार्मिक मेलों में पश्चिम बंगाल के गंगासागर में लगने वाला मेला भी प्रसिद्ध है।.

गंगासागर मेला आउट्राम घाट पर इस बार नहीं जला.

पश्चिम बंगाल के मशहूर गंगासागर मेले में लोगों की गुमशुदगी की समस्या से निपटने के लिए इस बार प्रशासन ने लोगों को क्यूआर बैंड बांटने का फैसला किया है।. गंगा सागर मेला कहाँ लगता है? GyanApp. गंगासागर, हि.स. । नये वर्ष के दूसरे सप्ताह से ही गंगासागर मेला शुरू होगा। मेले में स्पीड बोट और हवारक्राफ्ट से सुरक्षा की निगरानी कोनई बात नहीं है लेकिन इस बार मेले में सुरक्षा की निगरानी के लिए तेज गति से चलनेवाली कोयाड बाइक को इनमें. ममता का दावा गंगासागर मेले में 50 News DNN TV. Ganga Sagar Mela 2021, also known as Ganga Sagar Yatra or Ganga Snan, is the annual gathering of Hindu pilgrims to take holy dip in River Ganga before She merges in the Bay of Bengal Sea during Makar Sankranti at Sagar Island or Sagardwip in West Bengal, India. Ganga Sagar Mela 2021 date is January 14. गंगासागर मेले में जुटे 2 लाख से ज्यादा श्रद्धालु. Kolkata: दक्षिण 24 परगना के गंगासागर तट पर हर साल होनेवाले पुण्य स्नान के लिए शुक्रवार से आधिकारिक यात्रा की शुरुआत हो गयी है. पश्चिम बंगाल सरकार की घोषणा के मुताबिक 10 जनवरी से 16 जनवरी तक गंगासागर तीर्थ यात्रियों को किसी.

ममता का तीन दिवसीय दौरा शुरू गंगासागर मेला की.

ये मेले न केवल सांस्कृतिक दृष्टि से महत्वपूर्ण होते हैं, बल्कि इनका धार्मिक जुड़ाव भी होता है, जिस कारण इन मेलों में लाखों श्रद्धालु जुटते हैं। ऐसा ही एक अत्यंत पवित्और आस्था का मेला है गंगासागर मेला। प्रत्येक वर्ष माघ. गंगासागर धाम पर्यटन का यात्रा विवरण: गंगासागर. पश्चिम बंगाल में गंगासागर पर होने वाले मेले में भारत भर से लाखों नागा साधु और श्रद्धालु आते हैं. वे यहां डुबकी लगा कर मोक्ष की कामना करते हैं. Kolkata News: गंगासागर मेला ममता ने Navbharat Times. Latest gangasagar mela News in Hindi: Covers all गंगासागर मेला Live Updates in Hindi. Also Findes gangasagar mela Articles, Photos & Videos at Lokmat News Hindi लोकमत न्यूज हिन्दी. क्या आप जानते हैं कि गंगासागर मेला भारत के सबसे. कोलकाता, 30 दिसम्बर । सागर तट पर पुण्य स्नान के लिए आने वाले गंगासागर मेले के लिए तीर्थ यात्रियों को ध्यान में रखते हुए पश्चिम बंगाल सरकार इस बार 600 अतिरिक्त बसें चलाएगी। ये विशेष बस सेवाएं 11 से 17 जनवरी की बीच चलाई जाएंगी।. सारे तीरथ बार बार गंगासागर एक बार h. पश्चिम बंगाल में हर साल मकर संक्रांति के अवसर पर गंगासागर मेले का आयोजन होता है परंतु इस साल इस मेले ने एक भयानक हादसे को अंजाम दिया है. बताया जा रहा है कि यहाँ बीते दिन भगदड़ मच गयी जिसमे करीब छह तीर्थयात्रियों की मौत हो.

गंगासागर का मेला, सैकड़ों तीर्थयात्राओं के.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि केंद्र सरकार ने राज्य में आयोजित होने वाले वार्षिक गंगासागर मेले के लिए धनराशि मुहैया नहीं करायी जबकि कुंभ मेले के लिए उसने काफी मदद की थी।. गंगासागर मेला में बजरंग परिषद का शताब्दी वर्ष. कोलकाता न्यूज़: कोलकाता, छह जनवरी भाषा राजनीति से प्रभावित गड़बड़ियों की आशंका जताते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को पुलिस और प्रशासन को सतर्क रहने तथा मकर संक्रांति से पहले गंगासागर मेले. गंगासागर मेला. कोलकाता, 14 जनवरी आईएएनएस मकर संक्रांति के मौके पर गंगासागर मेले की शुरुआत से पहले पश्चिम बंगाल में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। एक अधिकारी ने सोमवार को कहा कि इस पर्व पर करीब 16 लाख श्रद्धालु गंगा और बंगाल की खाड़ी के संगम.