• वार्विक गोब्ले

    वारविक गोब्ले बच्चों की पुस्तकों के चित्रकार थे। उन्होने जापानी और भारतीय प्रसंगों पर विशेष चित्र बनाये।

  • लोरेंज़ो मोनाको

    लोरेंज़ो मोनाको इटालियन चित्रकार। इनका जन्म सियेना में हुआ। वर्जिन का राज्याभिषेक शीर्षक चित्र से सिद्ध होता है कि उसने पुनर्जागरण काल के पूर्व की यथार्थवादी...

  • लारेंस बिन्यन

    लारेंस बियन का जन्म लैंकेस्टर में हुआ था। सेंट पाल स्कूल तथा ट्रिनिटी कालेज में शिक्षा हुई। परसीफ़ोन नामक कविता पर न्यूडीगेट पुरस्कार १८९०; १९२९-३० जापान का ...

  • रैम्ब्राण्ट

    रैम्ब्राण्ट हारमनज़ून फ़ान रैन एक प्रसिद्ध डच चित्रकार थे। उन्हें यूरोपीय कला इतिहास में सबसे महत्वपूर्ण चित्रकारों में से एक स्मरण किया जाता है। डच स्वर्ण य...

  • मार्टिन शोंगावर

    मार्टिन शोंगावर जर्मनी का नक्काशीकार तथा चित्रकार था। उसके बनाये चित्र तथा उसकी ख्याति दूर-दूर तक पहुँची थी। इटली में वह बेल मार्टिनो तथा मार्टिनो डी अन्वेर्...

  • माक्स लीबरमान

    माक्स लीबरमान बर्लिन के एक यहूदी बैंकर के घर जन्मा था। पहले उसने बर्लिन विश्वविद्यालय से कानून एवं दर्शन की शिक्षा ली। किन्तु बाद में १८६९ में वीमर Weimar मे...

  • माइकल एंजेलो

    माइकल एंजेलो एक इतालवी मूर्तिकार, चित्रकार, वास्तुकाऔर उच्च पुनर्जागरण युग के कवि थे जो फ्लोरेंस गणराज्य में पैदा हुए थे। उन्हौने पश्चिमी कला के विकास पर एक ...

  • बोतोलोमो कादुसी

    बातोलोमो कादुसी इटली का चित्रकार था। वह फ़्लोरेंस में जन्मा और जिसने वहीं अपनी कलाशिक्षा ली। अपने समय के प्रचलित कलाकार अमानती से उसने वास्तुशिल्प तथा मूर्ति...

  • पाल सिनाक

    उसकी पहले भवन शिल्प की ओर रुचि थी, किंतु बाद में चित्रकला की प्रवृत्ति जगी। सुप्रसिद्ध फ्रेंच कलाकार विंसेंट बैंगाफ, पाल सेजाँ, पाल गागैं और क्लादे मोने की क...

  • दोमेनिको घिर्लांदाइयो

    दोमेनिको घिर्लांदाइयो १५वीं शती के फ्लोरेंस का प्रख्यात भित्तिचित्रकार, आकृतियों, वातावरण, भूदृश्यादि के यथार्थ अंकन में प्रवीण। उसका मूल नाम दोमोनिको दि तोम...

  • दुच्चिओ दि बुओसेग्ना

    १२७८ में उसने दस्तावेज और कागज रखने के १२ डिब्बों की अत्यंत कलापूर्ण सज्जा प्रस्तुत की। तत्पश्चात् फ्लोरेंस के सेंट मेरिया नोवेला चर्च की एक वेदिका के चित्रण...

  • थिओडर रूसो

    थिओडर रूसो का जन्म पेरिस मे एक दर्जी के परिवार में हुआ। दृश्य चितेरा चार्ल्स रिमांड और गुइलालेथिएर के मार्गदर्शन में उसने सोलह वर्ष की उम्र में ही कलाशिक्षा ...

  • जोजेफ विलियम मेलार्ड टर्नर

    बाल्यकाल से ही टर्नर चित्रकारी किया करते थे। उनके पिता इन चित्रों को अपने केश कर्तनालय में रखते थे और हजामत का कार्य करते करते लगे हाथ उन्हें बेच भी लेते थे।...

  • जॉर्जो मोरांदी

    जॉर्जो मोरांदी महान इतालवी चित्रकार थे। उन्होंने बहुत सीमित रंगों का उपयोग करके असंख्य ‘स्टिल लाइफ़’ चित्र बनाए। उनके चित्रों में एक-सी घरेलू वस्तुओं का फीका...

  • जॉन ट्रंबुल

    जॉन ट्रंबुल अमरीकन चित्रकार थे। उनका जन्म कानेक्टिकट राज्य के लेबनान स्थान में 6 जून 1756 में हुआ था। उनकी मृत्यु न्यूयार्क, 10 नवम्बर 1843 को हुई थी। हार्वर...

  • जेम्स थार्नहिल

    जेम्स थार्नहिल ग्रैंड बरोक परंपरा का एकमात्र ब्रिटिश सज्जा चित्रकार था। सेंट पाल के गिरजाघर की गुंबद में उसने सेंट पाल के जीवन से संबंधित आठ पैनेल बनाये । ग्...

  • जेम्स तिस्सो

    जेम्स तिस्सो का जन्म नाते Nantes में हुआ। पेरिस के एकोल द ब्युक आर्टस में इंग्रीस और लामोथे के नेतृत्व में शिक्षा प्राप्त की। फ्रांस और जर्मनी की लड़ाई में उ...

  • जान फ़ान आइक

    जान फ़ान आइक नीदरलैण्ड का चित्रकार तथा हूबर्ट आइक का छोटा भाई। वह १५वीं शताब्दी के उत्तरी पुनर्जागरण काल का प्रमुख कलाकार था। दोनों भाई चित्रकारी के इतिहास म...

  • क्योनागा

    टोरी क्योनागा जापान का रंगमंचीय कलाकार। उरागा में जन्म; टोकियो में कियोमित्सू द्वारा चित्रशिक्षण। गुरु के मरने के बाद उनकी संपत्ति का स्वामी बना और रंगमंच चि...

  • अन्ना करोमी

    अन्ना करोमी का जन्म सन १९४० में १८ जुलाई को क्जेह रेपुब्लीक के सेस्की क्रुमलोव में हुआ, ऑस्ट्रिया में पली-बड़ी, फ्रांस में रही और इटली में कार्य किया, उन्ह क...

  • एम टी वी आचार्य

    एम टी वी आचार्य एक चित्रकार, बाल पुस्तकों के चित्रकाऔर कला के शिक्षक थे। लोकप्रिय भारतीय बच्चों की पत्रिका चंदामामा के लिए आज उन्हें याद किया जाता है। आचार्य...

  • एडविन आस्टिन अबे

    एडविन आस्टिन अबे, संयुक्त राज्य अमरीका का चित्रकार था। वह फ़िलाडेल्फ़िया में उत्पन्न हुआ था। ललित कलाओं की पेंसिलवेनिया अकादमी से चित्रणकला सीखकर उसने पुस्तक...

  • उस्ताख ल सर

    उस्ताख ल सर फ्रांस का चित्रकाऔर फ्रेंच पेंटिंग अकादमी के संस्थापकों में से एक था। वह उस्ताख ल सर वूएट नामक चित्रकार का शिष्य था और उसी शैली में उसके अधिकतर च...

  • चित्रकार

    चित्र बनानेवाले को चित्रकार कहते हैं। यह कलाकारी की सबसे लोकप्रिय विधा है। चित्र बनाने के आधार जैसे कागज़, कैनवस, लकड़ी, कपड़ा या भित्ति और माध्यम जैसे जलरंग...

चित्रकार

अलफांजो लेग्रोस

यह भी उम्र के फ्रांसीसी चित्रकाऔर मूर्तिकार था.
यह भी चित्रों के प्रदर्शन १८५७ है, लेकिन यह प्रोत्साहन नहीं मिला । परिणामस्वरूप वह लंदन, चल आया था. १८७० में यूनिवर्सिटी कॉलेज में व्याख्याता बनाने के लिए-और-१७ वर्ष से जा रहा है. यह भी सबसे अधिक के चित्रों के विषय फ्रेंच देहाती जीवन. इसके कुछ प्रसिद्ध रचनाएं हैं - तीर्थयात्रियों, समुद्र का आशीर्वाद, बपतिस्मा, मृत मसीह और आनंद.

आंतोन मेंग्स राफेल

अपने जन्म बोहेमिया बोहेमिया की एक जगह के रूप में कहा जाता है । १७५४ में रोम की पेंटिंग वेटिकन स्कूल के निदेशक बने. स्पेन के चार्ल्स तृतीय के निमंत्रण पर बना दिया है और वहाँ की छत के लिए सजावट. चित्रों को बनाया गैलरी में हैं. इंग्लैंड के ड्यूक ऑफ नॉर्थम्बरलैंड के पास पवित्र परिवाऔर ऑक्सफोर्ड में यह कुछ समर्पित कर रहे हैं. १७७७ में रोम वहाँ थे २९ जून, १७७९ इसकी मृत्यु हो गई । कुल मिलाकर इस कैथोलिक प्रवृत्ति चित्रकार था.

आन्तोनियो लिबराले

किसी को भी उदार इटली का चित्रकार था.
अपने जन्म १४४५ में पैदा हुआ था. इस वेरोना हो सकता था । १४६५ ई. इस के बाद वेरोना से पर जाने चला आया और वहाँ रहे हैं तीन साल तक धार्मिक पुस्तकों की ओर से चित्र बनाता है. इन छवियों को बंद कर रहे हैं Chiusi में सुरक्षित हैं । १४८८ में पुन: वेरोना लौट आए और मौत यहाँ प्राप्त किया गया था. इसकी कुछ मुख्य रचनाएं हैं - मैरी, संतों के साथ माँ जी की पूजा, यीशु और मरियम की मौत.

आपेलीज़

सेब में प्राचीन पश्चिमी दुनिया के संभवत: सबसे महान चित्रकार है. वह चौथी सदी ई.पू. और फिलिप और सिकंदर का समकालीन था, मकदूनिया दरबारी कलाकार है । Verdi सिकंदर की उसकी तस्वीर क्लिप्स कारी मैलोरी सिकंदर की मूर्ति कम से कम महत्व नहीं था । उसके मैसेडोनिया में बनागई कई पेंटिंग्स के नाम और असामान्य प्रशंसा के प्राचीन इतिहास में सुरक्षित है, हालांकि उनमें से किसी एक के भी असल या नकल नहीं उपलब्ध आज ।

जूल बास्तां लापाज

जूल के ठिकानों कानून, फ्रांस के प्रसिद्ध आंकड़ा चित्रकाऔर कब्र के चित्रकार थे ।
उनका जन्म १ जुलाई १८४८ को एक कृषक परिवार । यह प्रभाववादी कलाकार है । उनकी प्रसिद्ध रचनाएं हैं विंटेज, हरिहर, गेहूं के खेत और भिखारी. यह निश्चित सबसे अच्छा acidifier है - अपने माता, पिता, पितामह और एडवर्ड सप्तम के acidifier. उनकी मृत्यु १० दिसम्बर १८८४ दो पेरिस में हुई.

फ्रांज फॉन लेनबाख़

फ्रांज वॉन lenbach जर्मन चित्रकार.
अपने जन्म १३ जुलाई १८३६ कुछ घर के लिए बवेरिया में हुआ. Augsberg और म्यूनिख के अध्यक्ष के निरीक्षण के बाद इसकी ब्याज की दिशा में कला के परिणामस्वरूप. इसके बाद कुछ समय तक ग्रेफ की गैलरी में । साजिश के सिनात्रा के बाद Gare लड़के के शीर्षक चित्र बनाया. नेतृत्व द्वारा जर्मनी के लिए यथार्थवादी आंदोलन की भूमिका प्रस्तुत की । इसकी विशेष प्रतिष्ठा आकार चित्रकार के रूप में है, और अपने प्रसिद्ध acidifier कर रहे हैं - बिस्मार्क और विलियम के पहले.

मासाच्चो

मैक्रो इटली का चित्रकार था. यह इटली की पेंटिंग का उत्पादन भी कह सकते हैं. इसकी सबसे रचनाओं को नष्ट कर दिया गया और जो बचा है वह अच्छी स्थिति में नहीं है.
मैक्रो का जन्म २१ दिसंबर, १४०२ Flores, के पास एक गांव में है । अपनी प्रारंभिक रचनाओं - कुमारी Saint Ann और बालक और कुमारी विराजमान और दो संतों. अपने महत्वपूर्ण चित्र - आदम के निष्कासन. अपनी रचनाओं के द्वारा इटली के आखिरी में क्रांति ला दी थी. १४२८ इस रोम में वहाँ थे कुछ ही समय बाद इसकी मृत्यु हो गई ।

हांस माकार्ट

हंस अधिनियम
हंस मार्केट में पैदा हुआ था Salzburg हुआ था. जब यह वियना कला अकादमी में प्रवेश किया, जर्मन कला के बौद्धिक स्तर को ऊपर उठाया गया था, तो वहाँ भी अकादमी की कला के रूप में प्रचलन था.

चित्रकार

चित्र बनानेवाले को चित्रकार कहते हैं। यह कलाकारी की सबसे लोकप्रिय विधा है। चित्र बनाने के आधार जैसे कागज़, कैनवस, लकड़ी, कपड़ा या भित्ति और माध्यम जैसे जलरंग...

उस्ताख ल सर

उस्ताख ल सर फ्रांस का चित्रकाऔर फ्रेंच पेंटिंग अकादमी के संस्थापकों में से एक था। वह उस्ताख ल सर वूएट नामक चित्रकार का शिष्य था और उसी शैली में उसके अधिकतर च...

एडविन आस्टिन अबे

एडविन आस्टिन अबे, संयुक्त राज्य अमरीका का चित्रकार था। वह फ़िलाडेल्फ़िया में उत्पन्न हुआ था। ललित कलाओं की पेंसिलवेनिया अकादमी से चित्रणकला सीखकर उसने पुस्तक...

एम टी वी आचार्य

एम टी वी आचार्य एक चित्रकार, बाल पुस्तकों के चित्रकाऔर कला के शिक्षक थे। लोकप्रिय भारतीय बच्चों की पत्रिका चंदामामा के लिए आज उन्हें याद किया जाता है। आचार्य...

अन्ना करोमी

अन्ना करोमी का जन्म सन १९४० में १८ जुलाई को क्जेह रेपुब्लीक के सेस्की क्रुमलोव में हुआ, ऑस्ट्रिया में पली-बड़ी, फ्रांस में रही और इटली में कार्य किया, उन्ह क...

क्योनागा

टोरी क्योनागा जापान का रंगमंचीय कलाकार। उरागा में जन्म; टोकियो में कियोमित्सू द्वारा चित्रशिक्षण। गुरु के मरने के बाद उनकी संपत्ति का स्वामी बना और रंगमंच चि...

जान फ़ान आइक

जान फ़ान आइक नीदरलैण्ड का चित्रकार तथा हूबर्ट आइक का छोटा भाई। वह १५वीं शताब्दी के उत्तरी पुनर्जागरण काल का प्रमुख कलाकार था। दोनों भाई चित्रकारी के इतिहास म...

जेम्स तिस्सो

जेम्स तिस्सो का जन्म नाते Nantes में हुआ। पेरिस के एकोल द ब्युक आर्टस में इंग्रीस और लामोथे के नेतृत्व में शिक्षा प्राप्त की। फ्रांस और जर्मनी की लड़ाई में उ...

जेम्स थार्नहिल

जेम्स थार्नहिल ग्रैंड बरोक परंपरा का एकमात्र ब्रिटिश सज्जा चित्रकार था। सेंट पाल के गिरजाघर की गुंबद में उसने सेंट पाल के जीवन से संबंधित आठ पैनेल बनाये । ग्...

जॉन ट्रंबुल

जॉन ट्रंबुल अमरीकन चित्रकार थे। उनका जन्म कानेक्टिकट राज्य के लेबनान स्थान में 6 जून 1756 में हुआ था। उनकी मृत्यु न्यूयार्क, 10 नवम्बर 1843 को हुई थी। हार्वर...

जॉर्जो मोरांदी

जॉर्जो मोरांदी महान इतालवी चित्रकार थे। उन्होंने बहुत सीमित रंगों का उपयोग करके असंख्य ‘स्टिल लाइफ़’ चित्र बनाए। उनके चित्रों में एक-सी घरेलू वस्तुओं का फीका...

जोजेफ विलियम मेलार्ड टर्नर

बाल्यकाल से ही टर्नर चित्रकारी किया करते थे। उनके पिता इन चित्रों को अपने केश कर्तनालय में रखते थे और हजामत का कार्य करते करते लगे हाथ उन्हें बेच भी लेते थे।...

तोरीई क्योनोबू

तोरीई क्योनोबू जापान का रंगमंचीय चित्रकार। उसका जन्म टोकियो में हुआ। इसने रंगमंचीय चित्रकारों की एक शालीन परंपरा का प्रारंभ किया। इसका गुरु भी रंगमंचीय साइनब...

थिओडर रूसो

थिओडर रूसो का जन्म पेरिस मे एक दर्जी के परिवार में हुआ। दृश्य चितेरा चार्ल्स रिमांड और गुइलालेथिएर के मार्गदर्शन में उसने सोलह वर्ष की उम्र में ही कलाशिक्षा ...

दुच्चिओ दि बुओसेग्ना

१२७८ में उसने दस्तावेज और कागज रखने के १२ डिब्बों की अत्यंत कलापूर्ण सज्जा प्रस्तुत की। तत्पश्चात् फ्लोरेंस के सेंट मेरिया नोवेला चर्च की एक वेदिका के चित्रण...

दोमेनिको घिर्लांदाइयो

दोमेनिको घिर्लांदाइयो १५वीं शती के फ्लोरेंस का प्रख्यात भित्तिचित्रकार, आकृतियों, वातावरण, भूदृश्यादि के यथार्थ अंकन में प्रवीण। उसका मूल नाम दोमोनिको दि तोम...

पाल सिनाक

उसकी पहले भवन शिल्प की ओर रुचि थी, किंतु बाद में चित्रकला की प्रवृत्ति जगी। सुप्रसिद्ध फ्रेंच कलाकार विंसेंट बैंगाफ, पाल सेजाँ, पाल गागैं और क्लादे मोने की क...

बोतोलोमो कादुसी

बातोलोमो कादुसी इटली का चित्रकार था। वह फ़्लोरेंस में जन्मा और जिसने वहीं अपनी कलाशिक्षा ली। अपने समय के प्रचलित कलाकार अमानती से उसने वास्तुशिल्प तथा मूर्ति...

माइकल एंजेलो

माइकल एंजेलो एक इतालवी मूर्तिकार, चित्रकार, वास्तुकाऔर उच्च पुनर्जागरण युग के कवि थे जो फ्लोरेंस गणराज्य में पैदा हुए थे। उन्हौने पश्चिमी कला के विकास पर एक ...

माक्स लीबरमान

माक्स लीबरमान बर्लिन के एक यहूदी बैंकर के घर जन्मा था। पहले उसने बर्लिन विश्वविद्यालय से कानून एवं दर्शन की शिक्षा ली। किन्तु बाद में १८६९ में वीमर Weimar मे...

मार्टिन शोंगावर

मार्टिन शोंगावर जर्मनी का नक्काशीकार तथा चित्रकार था। उसके बनाये चित्र तथा उसकी ख्याति दूर-दूर तक पहुँची थी। इटली में वह बेल मार्टिनो तथा मार्टिनो डी अन्वेर्...

रैम्ब्राण्ट

रैम्ब्राण्ट हारमनज़ून फ़ान रैन एक प्रसिद्ध डच चित्रकार थे। उन्हें यूरोपीय कला इतिहास में सबसे महत्वपूर्ण चित्रकारों में से एक स्मरण किया जाता है। डच स्वर्ण य...

लारेंस बिन्यन

लारेंस बियन का जन्म लैंकेस्टर में हुआ था। सेंट पाल स्कूल तथा ट्रिनिटी कालेज में शिक्षा हुई। परसीफ़ोन नामक कविता पर न्यूडीगेट पुरस्कार १८९०; १९२९-३० जापान का ...

लोरेंज़ो मोनाको

लोरेंज़ो मोनाको इटालियन चित्रकार। इनका जन्म सियेना में हुआ। वर्जिन का राज्याभिषेक शीर्षक चित्र से सिद्ध होता है कि उसने पुनर्जागरण काल के पूर्व की यथार्थवादी...

वार्विक गोब्ले

वारविक गोब्ले बच्चों की पुस्तकों के चित्रकार थे। उन्होने जापानी और भारतीय प्रसंगों पर विशेष चित्र बनाये।

स्वामी सुंदरानंद

स्वामी सुंदरानंद विश्व में फोटोग्राफर, पर्वतारोही और योगी के रूप में प्रसिद्ध हैं। स्वामी जी पिछले पचास सालों में सिकुड़ते गंगोत्री ग्लेशियर के पचास हजार से ...