अराजकतावाद

अराजकतावाद एक राजनीतिक दर्शन है, जो स्वैच्छिक संस्थानों पर आधारित स्वाभिशासित समाजों की वक़ालत करता है। इनका वर्णन अक्सर राज्यहीन समाजों के रूप में होता है, यद्यपि कई लेखकों ने इन्हें अधिक विशिष्टतापूर्वक अपदानुक्रमिक मुक्त संघों पर आधारित संस्थानों के रूप में परिभाषित किया हैं। अराजकतावाद के मतानुसार राज्य अवांछनीय, अनावश्यक और हानिकारक है
यह राजनीति विज्ञान की वह विचारधारा है जिसमें राज्य की उपस्थिति को अनावश्यक माना जाता है। इस सिद्धांत के अनुसार किसी भी तरह की सरकार अवांछनीय है। इसमें साधारणतः यह तर्क दिया जाता है कि मनुष्य मूलतः विवेकशील, निष्कपट और न्यायपरायण प्राणी है। अतः यदि समाज सही ढंग से संगठित हो तो किसी प्रकार के बल प्रयोग की आवश्यकता ही नहीं रहेगी। ऐसी स्थिति में राज्य की उपस्थिति स्वतः अप्रासंगिक हो जायगी।

1. परिचय
राज्य के नियंत्रण से पूरी तरह स्वतंत्र समाज की पैरोकारी करने वाला विचार अराजकतावाद कहलाता है। यह अवधारणा किसी भी तरह के सरकारी, व्यापारिक, औद्योगिक, वाणिज्यिक, धार्मिक, शैक्षिक या पारिवारिक नियंत्रण को अस्वीकार करती है। अराजकतावाद का विश्वास है कि मानवीय प्रकृति स्वतंत्रता, न्याय और ख़ुशहाली के लिए ही बनी है। मानव-समाज बिना किसी बाहरी हस्तक्षेप के शांति, सहकाऔर उत्पादन के साथ रहने में सक्षम है; और मनुष्य अपना शासन स्वयं कर सकता है। अराजकतावादियों के मुताबिक ऐसा समाज बनाना कठिन नहीं है जिसमें व्यक्तिगत स्वतंत्रता अधिकतम होगी, भौतिक वस्तुओं का समान बँटवारा होगा और आपसी सलाह-सुमति के साथ सभी लोग व्यक्तिगत और सामाजिक ज़िम्मेदारियों को लेंगे।
अराजकतावादी चिंतन का इतिहास प्राचीन काल के यूनानी दार्शनिकों तक जाता है। स्टोइक चिंतक, ख़ास तौर से ज़ेनो ईसा पूर्व 336-264 इसके लिए मशहूर हैं। आधुनिक युग में अराजकतावाद की सबसे महत्त्वपूर्ण व्याख्या करने श्रेय गॉडविन की 1793 में प्रकाशित कृति ऐन इनक्वारी कंसर्निंग पॉलिटिकल जस्टिस ऐंड इट्स इनक्रलुएंस ऑन जनरल वर्चू ऐंड हैपीनैस को जाता है। लेकिन ख़ुद को अराजकतावादी कहने वाले पहले दार्शनिक उन्नीसवीं सदी के पूर्वार्ध में सक्रिय रहे फ़्रांसीसी चिंतक पिएर जोसेफ़ प्रूधों थे। जहाँ तक लक्ष्यों और कल्पनाशीलता का सवाल है, अराजकतावादियों में मतैक्य दिखता है। पर अपने ख़यालों की दुनिया को धरती पर उतारने के प्रश्न पर उनके बीच मतभेद पाये जाते हैं। मोटे तौपर अराजकतावादियों की चार धाराएँ पायी जाती हैं: व्यक्तिवादी, परस्परतावादी, सामूहिकतावादी और साम्यवादी।
जर्मनी के निहिलिस्ट नाशवादी दार्शनिक मैक्स स्टर्नर को अराजकतावादी व्यक्तिवाद का प्रमुख चिंतक माना जाता है। इस विचार के मुताबिक व्यक्ति और उसकी सम्प्रभुता पूरी तरह से अनुलंघनीय रहनी चाहिए। स्टर्नर कहते हैं कि व्यक्ति को ईश्वर, राज्य या किसी भी नैतिकता की परवाह किये बिना अपनी मर्ज़ी से पहलकदमी ले कर सक्रिय रहने का अधिकार दिया जाना अनिवार्य है। हालाँकि इस किस्म के अराजकतावादी लेन-देन और समझौता कांट्रेक्ट के ज़रिये सामाजिक संबंध बनाने की वकालत करते हैं, पर व्यक्ति की निजता की बेतहाशा और अहंवादी पैरोकारी करने के कारण उनके कार्यक्रम की व्यावहारिकता काफ़ी कम हो जाती है। उन्नीसवीं सदी में अमेरिकी अराजकतावादी जोसैया वारेन ने इस तरह के अराजकतावाद के आर्थिक बंदोबस्त का एक खाका पेश करने की कोशिश की। उन्होंने मेहनत के घंटों का भंडार करने वाले ‘टाइम स्टोर्स’ की स्थापना की। उनकी तजवीज़ थी कि श्रम की मुद्रा के ज़रिये लोगों के बीच समतामूलक वाणिज्य हो सकता है। अमेरिकी अराजकतावादियों ने बाज़ार आधारित अर्थव्यवस्था की कड़ी आलोचना की। उन्होंने, विशेषकर लायसेंडर स्पूनर ने अमेरिकी संविधान पर ज़बरदस्त आक्रमण करते हुए उस समझौतापरक सिद्धांत की ख़ामियों को दिखाया जिसे राज्य की संस्था का आधार माना जाता है। व्यक्तिवादी अराजकतावाद की प्रेरणाएँ बीसवीं सदी में पनपे स्वतंत्रतावाद के विचार में ढूँढ़ी जा सकती हैं।
सामूहिकतावादी अराजकतावाद के प्रमुख चिंतक बकूनिन माने जाते हैं। सामूहिकतावादियों को न तो प्रूधों द्वारा की गयी छोटे किसानों और कारीगरों की तरफ़दारी पसंद थी और न ही वे कार्ल मार्क्स द्वारा प्रवर्तित समाजवादी विचार के समर्थक थे। मार्क्स के कम्युनिज़म को अधिनायकवादी करार देने वाला यह विचार एक ऐसे भविष्य की कल्पना करता है जिसमें मज़दूर संगठित हो कर पूँजी को अपने हाथ में ले लेंगे। संगठित मज़दूरों के हाथ में ही उत्पादन के साधन रहेंगे। सामूहिक फ़ैसले के आधापर आमदनी का वितरण होगा। जो जितना श्रम करेगा उसका हिस्सा भी उतना ही बड़ा होगा।
परस्परतावादी अराजकतावाद व्यक्तिवाद और सामूहिकतावाद बीच रास्ता था जिसके सूत्रीकरण का श्रेय प्रूधों को जाता है। प्रूधों ने सम्पत्ति और कम्युनिज़म के बीच तालमेल बैठाते हुए एक ऐसी आर्थिक प्रणाली की वकालत की जिसके तहत व्यक्ति को निजी या सामूहिक तौपर अपने उत्पादन के साधनों जैसे औज़ार, ज़मीन आदि का मालिक होने का अधिकार तो होगा, पर उसे उजरत अपने श्रम के मुताबिक ही मिलेगी ताकि समाज में समानता कायम रखी जा सके। इस अर्थव्यवस्था में विनिमय इस नैतिक मूल्य पर आधारित था कि व्यक्ति केवल उतना ही माँगेगा जितना वह स्वयं देने के लिए तैयार हो। प्रूधों ने उत्पादकों को न्यूनतम ब्याज दर पर ऋण देने वाले बैंकों की स्थापना का प्रस्ताव भी किया। इसमें कोई शक नहीं कि प्रूधों के आर्थिक प्रयोग कामयाब नहीं हुए, पर उनके फ़्रांसीसी अनुयायियों ने पहले कम्युनिस्ट इंटरनैशनल की शुरुआत पर अपना प्रभाव छोड़ा। बाद में सामूहिकतावादियों ने उन्हें किनारे धकेल दिया।
साम्यवादी अराजकतावाद यह मान कर चलता है कि कम्युनिज़म की स्थापना के लिए राज्य की संस्था अनावश्यक है। प्रिंस क्रोपाटकिन इस धारा के प्रमुख दार्शनिक थे। उनका कहना था कि मनुष्य परस्पर एकता और सहयोग के नैसर्गिक गुणों सम्पन्न है जिनके प्रभाव में सम्पत्ति संबंधी विभेद अपने-आप ख़त्म होते चले जाएँगे। समाज का हर व्यक्ति शामलाती संसाधनों का इस्तेमाल करेगा। मज़दूरों की स्वयंसेवी एसोसिएशनें आपूर्ति सम्बन्धी ज़रूरतों के हिसाब से उत्पादन-प्रक्रिया का नियोजन करेंगी। कम्यून अपने सदस्यों की आवश्यकताओं की शिनाख्त करेगा जिससे माँग तय होगी। कम्यूनों का आपसी महासंघ होगा जो सड़कें बनाने, रेलवे प्रणाली और अन्य सम्पर्क-संचार की सुविधाओं की फ़िक्र करेगा। लोगों को काम करने के लिए भौतिक प्रोत्साहन की आवश्यकता नहीं होगी। निजी सम्पत्ति की ग़ैर-मौजूदगी के तहत समाज में अपराधियों से निबटने के लिए अनौपचारिक तौर-तरीके अपनाये जाएँगे और कानून की दमनकारी मशीनरी की जरूरत नहीं पड़ेगी। साम्यवादी अराजकतावादियों का ख़याल था कि जब तक निजी सम्पत्ति पर आधारित विभेदों को ख़त्म करने लायक मानवीय एकता नहीं बन जाती, तब तक सामूहिकतावादी नज़रिया अपनाया जा सकता है।
उन्नीसवीं शताब्दी का बौद्धिक-राजनीतिक इतिहास मार्क्सवादियों और अराजकतावादियों के बीच बहस से भरा हुआ है। अराजकतावादी चाहते थे कि राज्य की संस्था को फ़ौरन मंसूख करने की तजवीज़ की जानी चाहिए, पर मार्क्सवादी राज्य को ख़त्म करने के पक्षधर होते हुए भी पहले मज़दूरों के राज्य की स्थापना करना चाहते थे। अराजकतावादियों का कहना था कि सर्वहारा का राज्य भी कुल मिला कर विषमता और उत्पीड़न का माध्यम बन जाएगा। बकूनिन तो समाजवादी राज्य को एक फ़ौजी बैरक की संज्ञा देते थे जिसमें लोग नगाड़े की आवाज पर सोएंगे, जागेंगे और श्रम करेंगे। यह एक ऐसा राज्य होगा जिसमें चालाक और शिक्षित लोग सरकारी सुविधाएँ भोगेंगे। 1846 में अपनी रचना दर्शन की दरिद्रता के ज़रिये मार्क्स ने प्रूधों की कड़ी आलोचना की। प्रथम कम्युनिस्ट इंटरनैशनल में जब बकूनिनपंथियों ने प्रूधों के अनुयायियों को पराजित कर दिया तो उन्हें मार्क्स के अनुयायियों से लोहा लेना पड़ा। इस संघर्ष के परिणामस्वरूप 1872 में इंटरनैशनल टूट गया। राज्य की संस्था की मुख़ालफ़त करने के कारण अराजकतावादी किसी भी तरह के संसदीय विचार के भी ख़िलाफ़ रहते हैं। वे चुनावों भाग नहीं लेते। समाज के क्रांतिकारी रूपांतरण में विश्वास के कारण ज्यादातर अराजकतावादी सभी तरह के प्राधिकाऔर आर्थिक संस्थाओं के ख़िलाफ़ जन-विद्रोह की अपील करने का कार्यक्रम पेश करते हैं। चूँकि उनकी योजना में किसी बड़े प्राधिकार की गुंजाइश नहीं है, इसलिए वे स्वतःस्फूर्त और स्थानीय स्तर की छोटी-छोटी बग़ावतों की रणनीति अपनाने की वकालत करते हैं। साम्यवादी अराजकतावाद ने उन्नीसवीं सदी के आख़िरी सालों में व्यक्तिगत स्तर पर आतंकवादी कार्रवाइयों की मुहिम भी चलाई जिसके तहत राजनेताओं और प्रमुख उद्योगपतियों की हत्याएँ भी की गयीं।
उन्नीसवीं सदी में स्पेन, इटली, बेल्जियम और फ़्रांस में अराजकतावादी काफ़ी सक्रिय थे। अमेरिका में १९०५ में फ़्रांस के अनारको-सिंडिकलिज़म से प्रेरित टे्रड यूनियन आंदोलन भी चला। बीसवीं सदी में साठ और सत्तर के दशक में बौद्धिक हलकों में अराजकतावादी विचार की साख बढ़ती हुई दिखायी दी। पॉल गुडमेन और डेनियल गुइरिन ने शिक्षा और सामुदायिकता के क्षेत्र में अराजकतावादी हस्तक्षेप किये। आजकल अराजकतावादी सिद्धांत का कोई विशेष प्रभाव नहीं दिखायी देता। लेकिन, इस सर्वसत्तावाद, अधिनायकवाद और निरंकुशता के आलोचकों के तर्कों में इस सिद्धांत की आहटें सुनी जा सकतीं हैं। समाजवादी विचार परम्परा में अराजकतावाद किसी न किसी रूप में हमेशा मौजूद रहता है। उदारतावादियों को अभिव्यक्ति की आज़ादी से संबंधित अपने ढुलमुलपन से मुक्त करने में भी अराजकतावाद की भूमिका से इनकार नहीं किया जा सकता। शांतिवाद के तहत सभी तरह की हिंसा से मुक्ति के आग्रह में भी इस विचार की प्रेरणाएँ रही हैं। स्वतंत्रतावाद के विचापर तो अराजकतावाद की छाप स्पष्ट है ही, पर्यावरणवादी आंदोलन ने भी अपने कई आग्रह उससे प्राप्त किये हैं।

2. निजी स्वामित्व का नकार
टुटपुंजिया बुर्जुआ सामाजिक-राजनीतिक धारा जो समस्त सत्ता तथा राज्य की शत्रु है, लघु निजी स्वामित्व तथा लघु कृषक अर्थव्यवस्था के हितों को बड़े पैमाने के उत्पादन आधारित समाज की प्रगति के मुक़ाबले रखती है। अधिकांश अराजकतावादी निजी स्वामित्व को समाप्त करना चाहते हैं और उसकी जगह समस्त सम्पत्ति पर सामुदायिक स्वामित्व स्थापित करने का समर्थन करते हैं। सिद्धांततः अराजकतावाद को मुख्यतः आदर्शवादी यूटोपिया तथा वस्तुवादी साम्यवाद के रूप में व्यवहृत किया जाता है।

3. यूटोपियाई अराजकतावाद
यूटोपियाई अराजकतावाद की नींव है व्यक्तिवाद, आत्मवाद तथा संकल्पवाद। इस शाखा के प्रमुख उन्नायकों में श्मिड्ट श्टिर्नेर, प्रूंदों तथा बाकूनिन का नाम उल्लेखनीय है। यह सिद्धांत १९ वीं सदी के दौरान फ्रांस, इटली तथा स्पेन में व्यापक रूप में प्रचलित था। वह शोषण के विरुद्ध नैतिक शक्ति तथा हृदय परिवर्तन सदृश युक्तियों का प्रतिपादन करता है। किंचित अर्थों में गांधी भी इसी वर्ग के विचारकों में माने जाते हैं।

4. साम्यवादी अराजकतावाद
मार्क्स-एंगेल्स द्वारा प्रतिपादित साम्यवादी अराजकतावाद, शोषण के विरुद्ध यूटोपियाई आदर्शवादी युक्तियों से इतर शोषण के भौतिक कारणों की पड़ताल करता है तथा समाजवादी क्रांति संभव करने के प्रेरक बल के रूप में वर्ग संघर्ष की समझ का वैज्ञानिक प्रतिपादन करता है। सर्वहारा वर्ग द्वारा राजनीतिक सत्ता को जीतने की आवश्यकता की अराजकतावादियों द्वारा अस्वीकृति मज़दूर वर्ग को बुर्जुआ राजनीति के मातहत रखने का वस्तुपरक ढंग से हितसाधन करती है। साम्यवादी अराजकतावाद राज्य के तात्कालिक उल्मूलन की माँग करता है। वह क्रांति के लिए सर्वहारा वर्ग को तैयार करने के लिए बुर्जुआ राज्य की संस्थाओं के उपयोग की संभावनाओं को स्वीकार नहीं करते तथा समाज के समाजवादी पुनर्निर्माण में राज्य की भूमिका से इनकार करते हैं।

  • sidebar हर त अर जकत व द य पर य वरण - अर जकत व द अर जकत व द क भ तर एक व च रश ल ह ज पर य वरण य म द द पर व श ष ध य न द त ह एक हर त अर जकत व द स द ध न त
  • र ष ट र य - अर जकत व द 1990 क दशक क अन त स ब र ट श स द र - दक ष णपन थ व यक त ट र य स उथग ट द व र प रत प द त एक आम ल, ग र - प ज व द ग र - म र क सव द
  • तर क क य ह अर जकत व द व श षण रह त अर जकत व द Synthesis अर जकत व द अर जक - प रक त व द अह व द अर जकत व द Freiwirtschaft भ - अर जकत व द सम व श ल कतन त र
  • अर जकत anarchy एक आदर श ह ज सक स द ध त अर जकत व द Anarchism ह अर जकत व द र ज य क सम प त कर व यक त य सम ह और र ष ट र क ब च स वत त र
  • अर जकत व द व च रश ल ए म ल र प स भ न न ह सकत ह ज चरम व यक त व द स ल कर सम प र ण सम हव द तक, क स क भ समर थन कर सकत ह Slevin, Carl. Anarchism
  • स घव द व र ध य क अर जकत व द कह गय आए द न क भ ष म आत कव द और अर जकत व द पर य यव च शब द ह पर त वस त त: द र शन क अर जकत व द क वल र जक य दमन
  • र ज यव द - व र ध क अर थ ह र ज य क और सरक र क क स भ र प क व र ध, और वह अर जकत व द स भ न न ह ज सक सन दर भ न क वल र ज य क बल क क स भ श सकत व क व र ध
  • philologist जन त व ज ञ न क रमव क स स द ध न त द र शन क, ल खक एव प रम ख अर जकत व द थ क र प त क न क जन म म स क म द सम बर ई. क र जक म र अल क ज
  • प एर ज स फ प र ध Pierre Joseph Proudhon - फ र स स अर जकत व द व च रक थ प र ध बज स न म उत पन न ह आ आर थ क कठ न इय क क रण श क ष
  • Montseny i Mañé 12 फ रवर 1905 14 जनवर 1994 स प न क त ल न य ई अर जकत व द और ब द ध ज व थ य स प न ग हय द ध क सम न तर घट त ह ई स प न क र न त
  • इस ल म इस ल म कट टरव द आम ल व नव द, व गनव द क आम ल व व चन, ज आम त र पर अर जकत व द स ज ड ह त ह आम ल स ध रण, एक Anabaptist आन द लन, ज प र ट स टन ट स ध रण
  • समझन क आवश यकत ह व च र क स तर पर र ज य क म र क सव द, न र व द और अर जकत व द आद स च न त म ल ह ल क न अभ र ज य स पर क स अन य मज ब त इक ई क
  • स म यव द म र क सव द सम जव द उद रव द र ढ व द आदर शव द फ स व द आ ब डकरव द अर जकत व द सर व ध क रव द सत त व द ग ध व द नक सलव द म ओव द ल न नव द क ल नत व द वस तव द
  • क ई एक, स र वभ म क र प स स व क त र ज य क औच त य नह ह व स तव म अर जकत व द म नत ह क र ज य क ल ए क ई औच त य ह ह नह और इसक ब न म नव सम ज
  • क ब हद स म त कर द न च हत ह इसक द प रम ख श ख ए ह एक श ख अर जकत व द य क ह ज म नत ह क सरक र अपन आप म व ध स स थ ह ह नह द सर
  • स ड कव द अन य सम जव द य क भ त सम जव द व यवस थ क पक ष म ह पर त अर जकत व द य क तरह वह र ज य क अ त कर स थ न य सम द य क ह थ म स म ज क न य त रण
  • क न त यह स व भ व क स स थ ह और न ह आवश यक ह उन ह न द र शन क अर जकत व द क भ त इस आध र पर र ज य क अस व क र क य - 1 र ज य ह स पर आध र त
  • म त म नत थ जबक अ ग र ज उन ह क ख य त मह ल खतरन क क र त क र अर जकत व द क र त क र ब र ट श व र ध तथ अस गत कहत थ य र प क सम जव द सम द य
  • करन च हत थ ह स और द व ष द व र उसक व न श नह ग ध व द ध र म क अर जकत व द ह इस समय व न ब भ व और जयप रक श न र यण ग ध व द क व य ख य और उसक
  • क ई एक वर ष तक स घ क क र य स च र र प स चलत रह क त ब क न न क अर जकत व द आ द लन, फ र स स जर मन य द ध और प र स कम य न क चलत अ तरर ष ट र य
  • द व र र ज य क प र ध क र क म नन और उसक क न न क प लन करन स ह अर जकत व द च तक व यक त क स व यत तत क क स भ तरह क द य त व क ब धन म नह
  • प र य अज ञ त न म स अपन व च र व यक त करत ह यह व श व क सबस अध क अर जकत व द और प रभ वश ल ज लस थल म स एक ह च न क स थ पन व स.
  • दर ओ फ क ऑपर शन त न स ट र अम त भ श र व स तव द व र अन व द, न टक - एक अर जकत व द क द र घटन म म त य अल बर ट क मस क कल ग ल शरद च द र द व र अन व द
  • उत तर - पश च म क ओर स ब र ट श भ रत पर आक रमण न कर द 1909 म भ रत य अर जकत व द गत व ध य क पनपन क प रत क र य म इ ग ल ड म भ रत य र जन त क ख फ य
  • उन ह न य र प अन क रन त क र आन द लन क बह त आदर करत थ इस ब त उन ह अर जकत व द और म र क सव द व च रध र क ओर ल गय व कई क र न त क र स गठन म
  • र ज य क स प क ष क स व यत तत स ज ड व द - व व द भ श म ल रह ह अर जकत व द य न र ज य क एक अप र क त क सत त म न ह ए इस प र तरह ख त म करन क
  • प रज त त रव द द श म ज स म यव द नह ह स म यव द व च र व ल अर जकत व द अथव अन य अप रज त त र क तत व सत त हथ य न क च ष ट करत ह और अपन
  • व च र व मर श कर रह थ ल क न जब त रक वह पह च त उन ह न आर यन अर जकत व द ल ल हरदय ल क आम त र त करन क स झ व द य ज स व स ट नफ र ड व श वव द य लय
  • अत यन त अस यम त भ ष म भर त सन करत ह य उनक आन द लन क क र न त क र अर जकत व द तथ घ ण और ह स क उभ ड न व ल आन द लन न र प त क य थ ग ध क दर शन
  • फ न इम ल थ ज नक द व र व लस ट नक र फ ट द र शन क व ल यम ग डव न, अर जकत व द आ द लन क प र वज म स एक श द कर ल व लस ट नक र फ ट कई अध र प ड ल प य

अराजकतावाद: अराजकतावाद की विशेषता, अराजकतावादी का मतलब, अराजकता किसे कहते हैं, अराजकता का अर्थ हिंदी, अराजकता क्या होता है, अराजकता का मतलब क्या होता है, अराजकता को परिभाषित करो, अराजकता इन हिंदी

अराजकता का अर्थ हिंदी.

फंस गए अराजकतावादी भगवंत मान. धार जिले की बदनावर विधानसभा सीट के वर्तमान भाजपा विधायक भंवर सिंह शेखावत के लिए चुनाव प्रचार करने आये योगी आदित्यनाथ ने बदनावर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, ​देश के अंदर जितने भी विवाद हैं उनकी जड़ कांग्रेस है।. अराजकता किसे कहते हैं. PDF created with FinePrint pdfFactory trial version. देश में चल रहे सभी विवादों के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि देश के अंदर आतंकवाद, नक्सलवाद एवं अराजकतावाद जैसी जो भी समस्याएं है,. अराजकतावाद की विशेषता. भाजपा राष्ट्रवाद की पक्षधर, आप है अराजकतावादी. अराजकतावाद हिन्दी शब्दकोश में अनुवाद अंग्रेजी Glosbe, ऑनलाइन शब्दकोश, मुफ्त में. Milions सभी भाषाओं में शब्दों और वाक्यांशों को ब्राउज़ करें.

अराजकता क्या होता है.

क्या सच में अरविंद केजरीवाल अराजकतावादी हैं. भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के जरिए राजनीति में आए केजरीवाल खुद को अराजकतावादी करार दे चुके हैं। हालांकि आंदोलन और अराजकता में अंतर होता है। आंदोलन का एकमात्और सीधा सरल सा मतलब यही होता है कि शांतिपूर्ण तरीके से शासन व्यवस्था. अराजकतावादी का मतलब. Create & Read Free Ebooks Online. जॉर्ज बुश और अराजकतावाद पर प्रकाशित लेखों पर सबसे तीव्र ​संपादकीय युद्ध हुआ. एक नज़र विकीपीडिया के सबसे विवादित विषयों पर. अराजकता इन हिंदी. भगतसिंह अराजकतावाद: एक नौजवान भारत सभा. मई 1928 से किरती में भगतसिंह ने अराजकतावाद पर यह लेखमाला शुरू की, जो अगस्त तक चलती रही यहाँ पहले आलेख के एक अंश को उद्धृत किया गया है। संसार में आज बहुत हलचल मची है। जाने ​माने विद्वान दुनिया में शांति स्थापना से कार्य. अराजकता का मतलब क्या होता है. देश में आतंकवाद, नक्सलवाद एवं अराजकतावाद की जड़. Univarta: नयी दिल्ली 19 दिसम्बर वार्ता केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री एवं दिल्ली भारतीय जनता पार्टी भाजपा चुनाव प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर ने गुरुवार को कहा कि उनकी पार्टी राष्ट्रवादी की पक्षधर है जबकि आम आदमी पार्टी आप.

Buy Gandhi Darshan Book Online at Low Prices in India Gandhi.

315114. pitara, 0, 86.96.226.0 locate, 2010 11 19:42. 315115. साम्यवाद, 1, 223.165.28.0 locate, 2010 11 19:26. 315116. अराजकता​, 2, 223.165.28.0 locate, 2010 11 19:43. 315117. अराजकतावाद, 0, 223.165.28.0 locate, 2010 11 19:23. 315118. अराजकतावाद, 0, 223.165​.28.0 locate. Delhi bjp president manoj tiwari statement on delhi assembly. सामान्य ज्ञान ग्रुप?????????? क्विज प्रश्नोतरी 37 2019​? स्नातक स्तर राज्य प्रकृति एवं कार्य???????? परिणाम? प्रश्न 01. किस सिद्धांत के अनुसार राज्य वर्ग विरोधी विसंगतियों की उपज एवं अभिव्यक्ति है? अ अराजकतावाद ब. अराजकतावाद Hindi News Punjab Kesari. अराजकता एक आदर्श है जिसका सिद्धांत अराजकतावाद है। अराजकतावाद राज्य को समाप्त कर व्यक्तियों, समूहों और राष्ट्रों के बीच स्वतंत्और सहज सहयोग द्वारा समस्त मानवीय संबंधों में न्याय स्थापित करने के प्रयत्नों का सिद्धांत है।.

SM Hindi: पाठ 6 पाश्चात्य राजनीतिक चिन्तन: विचारक.

अराजकतावादी दिन् Arajakatavadi din meaning in English इंग्लिश मे मीनिंग is अराजकतावादी दिन् ka matlab english me hai. Get meaning and translation of Arajakatavadi din in English language with grammar​, synonyms and antonyms. Know the answer of question what is meaning of. अराजकता क्या है? Arajkata Kya Hai Download the Vokal App. पेरिस तथा ब्रूसेल्स में प्रवास के दौरान वह अनेक समाजवादियों व उग्र सुधारवादियों के सम्पर्क में आया, जिनमेें आदर्श साम्यवादी केबेट, दार्शनिक अराजकतावादी प्रोधाँ साम्यवादी, अराजकतावादी बाकुनिन तथा फ्रेडरिक एंजिल्स प्रमुख थे।. विकीपीडिया पर सबसे विवादित लेख BBC News हिंदी. केंद्रीय मंत्री एवं दिल्ली विधानसभा चुनाव भाजपा प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर ने सीएए को लेकर दिल्ली के हालात पर कहा कि यह लड़ाई राष्ट्रवाद और अराजकतावाद के बीच है। उन्होंने कहा कि भाजपा हमेशा राष्ट्रवाद की पक्षधर रही.

मेन्स प्रैक्टिस प्रश्न Main Answer Writing Practice.

अराजकतावादी चिंतन का इतिहास प्राचीन काल के यूनानी दार्शनिकों तक है. शेयर चिंतक, विशेष रूप से ज़ेनो ई. पू. 336 264 इसके लिए प्रसिद्ध हैं. आधुनिक युग में अराजकतावाद के सबसे समझाने के लिए महत्वपूर्ण क्रेडिट गॉडविन के 1793 में.:राज्य एक आवश्यक बुराई है यह कथन किस विचारधारा में. यह लेख विशेष रूप से अराजक राष्ट्रवाद के आन्दोलन के बारे में। राष्ट्रवादी और अराजकतावादी विचारों के सिंथेसिस के.

Karl Marx ke anusar Rajniti ka kya Arth hai​.

कभी महात्मा गांधी ने भी ऐसा ही कहा था, लेकिन शक है कि राजनीतिक दर्शन में अराजकतावाद को जिन अर्थों में जाना जाता है, उस बारे में केजरीवाल या उनके प्रबुद्ध दर्शनशास्त्री सजग होंगे। अराजक यानी राज का विसर्जन। ऐसा सुशासन. अराजकतावाद ब रासता आम आदमी Navbharat Times. उस समय के अधिकांश बुद्धिजीवी और सामाजिक–राजनीतिक आंदोलन प्रूधों के अराजकतावाद से प्रभावित थे. सामंतवाद और साम्राज्यवाद का उत्पीड़न झेल चुके लोगों द्वारा शासकविहीन राज्य की परिकल्पना की जा रही थी. हालांकि यह कोई.

अराजकतावाद एक राजनीतिक दर्शन है, जो स्वैच्छिक.

भाजपा देश के 130 करोड़ नागरिकों की नागरिकता बरकरार रखकर केवल घुसपैठियों को हटाना चाहती है जबकि आम आदमी पार्टी और​. Page 1 अध्याय 2 भारत में उत्तर गांधीय चिंतन में. सबसे उत्तम सरकार वह है जो सबसे कम शासन करती है। यह सिद्धान्त राज्य के कार्य के सम्बन्ध में कहाँ तक. सन्तोषजनक सिद्धान्त है? अथवा. अराजकतावाद की परिभाषा दीजिए। अराजकतावाद के पक्ष तथा विपक्ष की व्याख्या कीजिए। इकाई. 2. ​फासिस्टवाद. अनटाइटल्ड eGyanKosh. अराजकता Arajakta Anarchy १. राजा का न होना । २. शासन का अभाव । ३. अशांति । हलचल । आँधेर । यौ॰ अराजकतावाद व्याक्तिस्वातंत्र्य का समर्थ न करेवाला तथा शासन की अनावश्यकता मनानेवाला सिद्धात या वाद । अराजकता.

अनटाइटल्ड.

किया जाता है जैसे समूहवाद, अराजकतावाद, आदिकालीन कबायली साम्यवाद. सैन्य साम्यवाद, ईसाई समाजवाद, सहकारितावाद, आदि – यहाँ तक कि नात्सी. दल का भी पूरा नाम राष्ट्रीय समाजवादी दल था। समाजवाद की परिभाषा करना कठिन है। यह सिद्धांत तथा. Meaning of अराजकतावाद in English अराजकतावाद का अर्थ. यह लड़ाई राष्ट्रवाद और अराजकतावाद के बीच है प्रकाश जावड़ेकर. नई दिल्ली. दिल्ली की अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित. सर्च हिस्ट्री Search history Hindi Wordnet. अराजकतावाद. d Idea of the political. राजनीतिक पॉलिटिकल का विचार. What is political theory? Differentiate between empirical and normative approaches to political theory. 4500. राजनीति सिद्धांत क्या है? राजनीति सिद्धांत के अनुभवसिद्ध और मानकीय दृष्टिकोण के बीच अंतर.

प्रकाश जावड़ेकर.

315117. pitara, 0, 86.96.226.0 locate, 2010 11 19:42. 315118. साम्यवाद, 1, 223.165.28.0 locate, 2010 11 19:26. 315119. अराजकता​, 2, 223.165.28.0 locate, 2010 11 19:43. 315120. अराजकतावाद, 0, 223.165.28.0 locate, 2010 11 19:23. 315121. अराजकतावाद, 0, 223.165​.28.0 locate. कीकू शारदा की गिरफ्तारी अराजकतावाद Janaadesh. इससे पहले भी विरोधी केजरीवाल को अराजकतावादी बता रहे थे, जिसके जवाब में खुद केजरीवाल ने कहा था, हां मैं अराजकतावादी हूं। पिछले अगस्त महीने में उप राष्ट्रपति मो. हामिद अंसारी ने राज्य सभा में किये जा रहे व्यवधान पर हताशा​. अराजकता Arajakta Meaning In English Arajakta in English. अराजकतावाद एक राजनीतिक दर्शन है, जो स्वैच्छिक संस्थानों पर आधारित स्वाभिशासित समाजों की वक़ालत करता है। इनका वर्णन अक्सर राज्यहीन समाजों के रूप में होता है, यद्यपि कई लेखकों ने इन्हें अधिक विशिष्टतापूर्वक अपदानुक्रमिक मुक्त संघों पर आधारित संस्थानों के रूप में परिभाषित किया हैं।.

आप है अराजकतावादियों की बाप Ugta Bharat Hindi.

अराजकतावाद ब रास्ता आम आदमी. यह एक राजनीतिक दर्शन है, जिसे दिल्ली के शासक दल के साथ जोड़ने की कोई वजह नहीं है. राहुल गांधी पार्ट 2. क्यों करें उपवास? 27 जनवरी का लेख ​राष्ट्रहित में. रखें एक वक्त का उपवास पढ़ा। यहां उपवास रखने वाली सलाह से. दार्शनिक अराजकतावाद Answers of Question OnlineTyari. लंदन के अराजकतावादियों के बीच, ट्रेजरी बेंच द्वारा Charles Paul Renouard किसी कला प्रिंट जैसा।. अराजकतावाद राजनैतिक विचारधारा. सजावटी 3x5 अराजकता चिह्नित पंक अराजकतावादी अराजकतावाद त्योहार काले सफेद बैनर, Find Complete Details about सजावटी 3x5 अराजकता चिह्नित पंक अराजकतावादी अराजकतावाद त्योहार काले सफेद बैनर,सजावटी झंडे बैनर,अराजकतावादी झंडा,​अराजकतावाद. अराजकतावाद का मतलब. टाइम्स ऑफ इंडिया के 23 जनवरी 2014 के अंक में सम्पादकीय पृष्ठ पर रोनजॉय सेन का एक लेख छपा है ग्रामर ऑफ एनार्की शीर्षक से। इसमें लेखक ने फासीवाद एवं अराजकतावाद के अंतर को समझाया है। उल्लेखनीय है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने दिल्ली. Dainik bhaskar editorial देश में अराजकता के नए पैरोकार. के अराजकतावादी सिद्धांत को यह मानकर स्वीकार करें कि सब कुछ संभव है। 1998. आपको आश्चर्य हो रहा होगा कि हमने विज्ञान के दर्शनशास्त्पर इतनी चर्चा क्यों की है। यदि आप गहराई से सोचें तो आपको महसूस होगा कि यह समाज विज्ञान के लिए अति.

News: अराजकतावाद और आम आदमी पार्टी Navbharat Times.

अराजकतावाद - - - - - - - अराजकतावाद राजनीति विज्ञान की वह विचारधारा है जिसमें राज्य की उपस्थिति को अनावश्यक माना जाता है। इस सिद्धांत के अनुसार किसी भी तरह की सरकार अवांछनीय है। इसमें साधारणतः यह तर्क दिया जाता है कि मनुष्य मूलतः. राष्ट्रीय अराजकतावाद Owl. अराजकतावाद का पर्यायवाची. अराजकतावाद – ऐनार्किज़म। मिलते जुलते शब्दों के पर्यायवाची –. अराड़. अराजनीतिक. अराजकतावादी. अराजकता. अराजक. अरहर. अरस्तू. अन्य पर्यायवाची शब्दों के लिए वर्ण चुने –. अ आ इ ई उ ऊ ऋ ए ऐ ओ औ ऑ क ख ग घ च छ ज झ ट ठ ड ढ ण.

विज्ञान का अराजकतावादी सिद्धान्त Eklavya.

अपनी बात मनवाने के लिए ऐसे तरीकों को अपनाना सही नहीं है और अराजकतावाद फैलाना गलत है, सभी के हित के लिए इसे छोड़ देना ही बेहतर है। दिल्‍ली के पूर्व मुख्‍यमंत्री केजरीवाल, जिन्‍होने हाल ही में अपना इस्‍तीफा दिया है, वह शायद इस. Daily Current Affairs, IBPS RRB, IBPS PO, IBPS Clerk, Govt. Job. 1 मार्क्सवाद, 2 व्यक्तिवाद, 3 अराजकतावाद, 4 उघोगितावाद.