• सर्वहित

    दर्शनशास्त्र, अर्थशास्त्और राजनीति में सर्वहित किसी संगठन, समुदाय, राज्य, राष्ट्र या अन्य जन-समूह के सभी या अधिकांश सदस्यों की भलाई के ध्येय को कहते हैं, जिस...

  • विधि

    विधि किसी नियमसंहिता को कहते हैं। विधि प्रायः भलीभांति लिखी हुई संसूचकों के रूप में होती है। समाज को सम्यक ढंग से चलाने के लिये विधि अत्यन्त आवश्यक है। विधि ...

  • प्राधिकार

    प्राधिकार किसी व्यक्ति, गुट या संस्थान के किसी विषय या क्षेत्र में निर्णय लेने व निर्णायक कार्य करने की ऐसी क्षमता को कहते हैं जो किसी राज्य द्वारा प्रदान की...

सामाजिक अवधारणाएँ

प्राधिकार

प्राधिकार किसी व्यक्ति, गुट या संस्थान के किसी विषय या क्षेत्र में निर्णय लेने व निर्णायक कार्य करने की ऐसी क्षमता को कहते हैं जो किसी राज्य द्वारा प्रदान की...

विधि

विधि किसी नियमसंहिता को कहते हैं। विधि प्रायः भलीभांति लिखी हुई संसूचकों के रूप में होती है। समाज को सम्यक ढंग से चलाने के लिये विधि अत्यन्त आवश्यक है। विधि ...

सर्वहित

दर्शनशास्त्र, अर्थशास्त्और राजनीति में सर्वहित किसी संगठन, समुदाय, राज्य, राष्ट्र या अन्य जन-समूह के सभी या अधिकांश सदस्यों की भलाई के ध्येय को कहते हैं, जिस...